रोजाना सिंघाड़ा खाने से कई बीमारियां रहती हैं दूर, व्रत में ही नहीं इस तरह भी खाने से भी मिलते हैं फायदे

New Delhi: सिंघाड़ा हर किसी को पसंद आता है। व्रत में सिंघाड़े के आटे की पूड़ियां और हलवा भी खूब खाया जाता है। इसमें Vitamin A, B और C भरपूर मात्रा में पाया जाता है। ये Minerals और Carbohydrates के गुणों से भी भरपूर होता है। आयुर्वेद में भी सिंघाड़े को गुणों का खजाना बताया गया है। ये सर्दियों में आसानी से पाए जाते हैं।

आज हम आपको सिंघाड़ा के फायदों के बारे में बताएंगे, जिसे सुनकर आप यहीं सोचेंगे कि काश ये पहले पता होता। वो महिलाएं जिनका गर्भाशय कमजोर हो, वे नियमित कच्चा chestnut  खाएं इससे उन्हें और उनके बच्चे को फायदा मिलेगा। साथ ही बच्चे को किसी तरह का नुकसान भी नहीं होता है।

इसके अलावा गले में इन्फेक्शन होने पर chestnut का आटा दूध में मिलाकर पिएं, तुरंत राहत मिलेगी। घेघा सिंघाड़े में Iodine की मात्रा ज्यादा होती है जिस वजह से यह घेघा रोग में भी फायदेमंद है। आंखों की रोशनी के लिए chestnut  में Vitamin A अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसके सेवन से आखों की रोशनी बढ़ती है।

इसमें मौजूद Iodine गले में होने वाले टॉन्सिल से भी छुटकारा दिलाता है। इसमें ताजा सिंघाड़ा या चूर्ण खाना दोनों फायदेमंद होता है। chestnut  को पानी में उबाल कर कुल्ला करने से भी आराम मिलता है। chestnut  शरीर के सूजन और दर्द में भी राहत देता है। शरीर के किसी भी अंग में सूजन होने पर chestnut  के छिलके को पीस कर लगाने से आराम मिलता है। ये AntiOxidant का भी अच्छा स्रोत है। यह त्वचा की झुर्रियां कम करने में मदद करता है। यह सूर्य की पराबैंगनी किरणों से त्वचा की रक्षा करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *