बार-बार आती है डकार तो ना करें नजरअंदाज,ये 5 बीमारियां हो सकती हैं इसकी जिम्मेदार

New Delhi: वैसे तो डकार आना एक आम सी बात है। खासतौर से खाना खाने के बाद तो डकार आना अच्छी बात ही मानी जाती है। ये पेट की गैस बाहर निकालने की एक प्रक्रिया भी मानी जाती है। लेकिन अगर बार बार डकार आती है तो ये भी कोई अच्छे संकेत नहीं हैं।

अगर भोजन करते समय या बाद में डकार न आये तो पेट में दर्द और गैस बनने लगती हैं और ज्यादा डकार से शरीर में बीमारियां पनपने लगती हैं। जानिए बार-बार डकार आने से हमें कितने खत’रे हो सकते हैं।

अगर आपको ज्यादा डकार आती है तो पेट में कब्ज भी हो सकती हैं। इस समस्या से निपटने के लिये अपने खाने में ईसबगोल और ज्यादा से ज्यादा फाइबर वाली चीजें लें। ज्यादा डकार आने का मतलब है की आपका हाजमा खराब हैं।

बार-बार डकार आना गैस्ट्रोसोफेजिअल रिफ्लक्स डिज़ीज़ के भी संकेत हो सकते हैं। इसमें आंतों में जलन होने लगती है और फूड पाइप में एसिड बनने लगता है। गैस्ट्रोसोफेजिअल रिफ्लक्स डिज़ीज़ से बचाव के लिए खानपान और अपनी डाइट को बदलना बहुत ही जरूरी है।

डिप्रेशन कई समस्याओं के कारण होता है। कई अध्ययनों से भी पता चला है कि लगभग 65 प्रतिशत मामलों में मूड में बड़ा बदलाव या तनाव का बढ़ना ज्यादातर डकार आने का कारण बनता है। डिप्रेशन से हमारे पेट पर भी असर पड़ता है।

हम खाना खाते समय ज्यादा हवा पेट में निगल जाते हैं और उसके बाद डकारें आने लगती हैं, जिसे हम ऐरोफेजिया कहते हैं। खाना खाते समय हवा पेट में चले जाने से अकसर ऐरोफेजिया की स्थिति पैदा हो जाती है। अगर आपको ऐरोफेजिया की समस्या से बचना हैं तो भोजन करते समय छोटे निवाले लें। खाना खाते समय मुंह बंद रखें और धीरे-धीरे खाने को चबा कर निगलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *