पेट से जड़ी सारी परेशानियां दूर करता है भुजपीड़ासन योग, जानें करने का आसान तरीका

New Delhi: आजकल लोगों में घर के खाने के बजाय बाहर के खाने का क्रेज ज्यादा ही बढ़ता जा रहा है। जिसकी वजह से कई बिमारियां आपके शरीर में अपना घर बना लेती हैं। सही तरीके से नहीं खाने-पीने की वजह से हमारे पेट में कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं। इस परेशेनियों के कारण अपच, इनडाइजेशन, पेट दर्द, गैस, ऐसिडीटी की परेशानी होने लगती है।

अगर आप भी अपना पाचन तंत्र मजबूत और पेट की बीमारियों से छुटकारा पाना चाहते हैं नियमित रूप से भुजपीड़ासन योगासन कर सकते हैं। इससे आपके पेट की सारी परेशानियां खत्म हो जाएंगी। जानिएं कैसे करते हैं भुजपीड़ासन और क्या हैं इसके फायदे।

सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं और आगे की तरफ झुकते हुए अपनी हथेलियों को आगे की तरफ कर लें। आपके आपके पैरों से थोड़ी दूरी पर होने चाहिए। अब अपने कूल्हों को ऊपर की तरफ उठाएं। घुटनों को थोड़ा मोड़ें और अपने पैरों को (जो अब तक पीछे हैं) अपने हाथों के पास लाएं (अब आपकी हथेलियां और तलवे एक सीध में जमीन पर हों। अब अपने दाएं हाथ को उठाकर अपनी दाईं एड़ी के ऊपर (जहां से पैर की मोटाई शुरू होती है) का हिस्सा पकड़ें। इसी तरह बाएं हाथ को भी उठाकर अपनी बाईं एड़ी (जहां से पैर की मोटाई शुरू होती है) के ऊपर का हिस्सा पकड़ें। शरीर का पूरा भार अपने दोनों तलवों पर दें ताकि आपका बैलेंस न बिगड़े।

अब धीरे-धीरे एक तलवे को इस तरह ऊपर उठाएं कि आपका अंगूठा जमीन को न छोड़े। 5-7 सेकंड इसी पोजीशन में रहें और फिर तलवों को जमीन पर पूरा रख दें। इसके बाद दूसरे पैर को भी इसी तरह उठाएं कि आपका अंगूठा जमीन न छोड़ें। इस पैर से भी 5-7 सेकंड इसी पोजीशन में रहें और फिर तलवों को जमीन पर पूरा रख दें। अपनी हथेलियों को पैरों से थोड़ा पीछे करते हुए जमीन पर रख दें। अब धीरे-धीरे हथेलियों पर सारे शरीर का भार डाल दें और शरीर को हवा में लटकता हुआ छोड़ दें।