बवासिर से लेकर सालों पुराने घुटने के दर्द से हरसिंगार दिलाए राहत,जानें कैसे और कब करें इस्तेमाल

New Delhi: हरसिंगार जिसे Night jasmine भी कहा जाता है दिखने में जितना खूबसूरत और खूशबूदार होता है, सेहत के लिए भी उतना ही फायदेमंद है। इसे भगवान की पूजा के लिए खास तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। ये हर जगह आसानी से पाया जाता है। इसकी भीनी खूशबू किसी का भी मन अपनी तरफ मोह ले। बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि ये फूल कई औषधिय गुणों से भरपूर है। इसके पत्तों का सबसे अच्छा उपयोग सायटिका रोग को दूर करने में किया जाता है। जानते हैं इसके और क्या फायदे हैं।

हरसिंगार सबसे ज्यादा उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो लोग सालों से अपने घुटनों के दर्द से परेशाना हैं। इसके पत्ते इस बिमारी को दूर करने में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद हैं। इसके लिए हरसिंगार के पांच पत्तों को पीसकर पेस्ट बना लें, इस पेस्ट को एक गिलास पानी में मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं। जब पानी आधा रह जाये तब इसे पीने लायक ठंडा करके पिएं। इस काढ़े का सेवन सुबह खाली पेट करें। इससे सालों पुराने अर्थराइटिस के दर्द में भी निश्चित रूप से फायदा होता है।

harsingar flower

ये फूल और इसके पत्ते बवासिर के रोगियों के लिए भी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है। बवासिर से छुटकारा पानें के लिए रोज सुबह खाली पेट इसका बीच खाएं। इससे आपको फायदा मिलेगा। या फिर आप चाहें तो हारसिंगार के बीज 10 ग्राम तथा कालीमिर्च 3 ग्राम को मिलाकर पीस लें और चने के बराबर आकार की गोलियां बना लें। अब इस गोली को रोज सुबह और शाम खाली पेट गुनगुने पानी के साथ पिएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *