दिमाग तेज करने के लिए वरदान है अष्टांग योग, जानें इससे होने वाले फायदे

New Delhi: योगा हमारे शरीर को अंदर से हेल्दी रखने के लिए फायदेमंद माना जाता है। इससे ना सिर्फ बीमारियां दूर होती हैं बल्कि ये हमारे दिमाग को भी शांत रखता है। आज हम आपको अष्टांग योग के फायदे के बारे में बता रहे हैं।

ये योग लगभग हर प्रकार के दर्द को दूर करने में मदद करता है। योग की श्वास और स्ट्रेचिंग तकनीक के जरिये आप शरीर में कई प्रकार के विषैले पदार्थों का सही संतुलन बनाने का काम करता है। इसमें रक्त भी शामिल है, जो आमतौर पर शरीर में जरूरी पोषक तत्त्व पहुंचाने और टॉक्सिन को हटाने का काम करता है। एक बार शरीर का सर्कुलर सिस्टम में सुधार आ जाए, तो शरीर दर्द का बेहतर तरीके से सामना कर पाता है। इसका अर्थ है कि आपको दर्द का अहसास कम होता है और सूजन में भी कमी आती है। शरीर में रक्त संचार के बेहतर होने का अर्थ यह भी है कि आपके शरीर की स्वत: ठीक होने की प्रक्रिया में भी तेजी आती है।

कैसे करते हैं अष्टांग योग- टेबल के समान दोनों हथेलियों और घुटनों पर शरीर को स्थापित कर दीजिए।उसके बाद हाथ की कोहुनियों को हल्का मोडते हुए हाथ के साइड के हिस्से को थोडा नीचे झुकाएं। फिर सांस छोड़ते हुए दोनों हाथों के बीच चेस्ट को नीचे की तरफ झुकाइए। गर्दन को आगे की ओर खींचते हुए चिन को जमीन से लगाइए। हांथों को कंधे से नीचे झुकाते हुए पीछे की ओर ले जाइए। पैर की उंगलियों को मोड़कर तलवे के ऊपरी भाग को जमीन से छूने दीजिए। कूल्हों को ऊपर की दिशा में उठाते हुए रीढ की हड्डियों को सीधा रखिए। इसके बाद इस मुद्रा में 15 से 30 सेकेंड तक बने रहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *